उत्तर प्रदेश के सीतापुर में एक सरकारी इंटमीडिएट कॉलेज के उप प्रधानाचार्य को बच्चा चोरी की अफ़वाह फैलाने के आरोप में गिरफ़्तार किया गया है। पुलिस ने यह जानकारी दी।

सिधौली सर्कल अधिकारी अंकित कुमार सिंह ने कहा कि पंडित दीन दयाल उपाध्याय इंटर कॉलेज के उप-प्रधानाचार्य रूपेश सिंह को शनिवार को यह अफ़वाह फैलाने के आरोप में गिरफ़्तार किया गया कि प्राइमरी सेक्शन के दो छात्र पिछले दो दिनों से लापता हैं और संभवत: बच्चा चोरों का शिकार बन गए हैं।

अधिकारी ने कहा, “उन्होंने (उप प्रधानाचार्य) कॉलेज के प्रिंसिपल और अन्य शिक्षकों को भी इसकी जानकारी दी। यह अफ़वाह इलाके में जंगल की आग की तरह फैल गई, जिसके बाद कुछ अभिभावकों ने अपने बच्चों को स्कूल भेजना बंद कर दिया और पुलिस को इसकी जानकारी दी।”

ये भी पढ़ें: विधवाओं के संघर्ष की कहानी सुनाते चित्र

जब पुलिस की एक टीम लापता बच्चों का पता लगाने के लिए कॉलेज पहुंची, तो पाया कि सभी छात्र मौजूद थे और अनुपस्थित छात्र अपने घरों में थे।

हालांकि, सिंह ने शनिवार को फिर से अफ़वाहें फैलाना शुरू कर दिया जिसके बाद फिर से पुलिस में शिकायत दर्ज की गई।

इसके बाद, अटरिया के स्टेशन ऑफ़िसर पुष्पराज कुशवाहा कॉलेज पहुंचे और उप प्रधानाचार्य को गिरफ़्तार कर लिया।

कुशवाहा ने कहा, “एक पुलिस टीम को फिर से दावों की जांच करने के लिए कहा गया, जो ग़लत पाए गए, जिसके बाद सिंह को गिरफ़्तार कर लिया गया।”

उप प्रधानाचार्य को भारतीय दंड संहिता की धारा 505 (सार्वजनिक रूप से शरारत के तौर पर जानबूझकर अफ़वाह फैलाना) के तहत दर्ज किया गया है।

–आईएएनएस

ये भी पढ़ें: सीरिया के इदलिब में हवाई हमलों में 50 विद्रोही मारे गए

ये भी पढ़ें: सैमसंग काम कर रही है सस्ते गैलेक्सी फ़ोल्ड पर

Leave a Reply