दिल्ली से सटे हरियाणा के हाईटेक शहर फ़रीदाबाद में पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) विक्रमजीत सिंह कपूर आत्महत्या कांड में रोज़ कुछ न कुछ नया निकल कर सामने आ रहा है। कुछ दिन पहले इस मामले में पुलिस ने अपने ही एसएचओ इंस्पेक्टर को गिफ़्तार किया था। अब सरकार ने फ़रीदाबाद के पुलिस कमिश्नर का ट्रांसफ़र कर दिया है। अब तक सूबे में स्पेशल टास्क फ़ोर्स (एसटीएफ़) प्रमुख रहे के.के. राव को फ़रीदाबाद का नया पुलिस कमिश्नर बनाया गया है। के.के. राव ने सोमवार को प्रभार ग्रहण करते ही तमाम अधीनस्थ आला-अफ़सरों के साथ बैठक की।

आईएएनएस से बाततीच करते हुए फ़रीदाबाद पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने की।

फ़रीदाबाद पुलिस सूत्रों के मुताबिक बैठक में भी नव-नियुक्त पुलिस आयुक्त राव ने सबसे पहले डीसीपी विक्रमजीत सिंह कपूर आत्महत्या कांड में अब तक हुई जांच के बारे में ही पूछा।

डीसीपी विक्रमजीत सिंह कपूर आत्महत्या कांड में जिस तरह से फ़रीदाबाद पुलिस की बदनामी हुई थी, उससे राज्य पुलिस महानिदेशालय और राज्य सरकार ख़ासी ख़फ़ा थी। इसी के चलते यहां पूर्व में तैनात पुलिस कमिश्नर संजय कुमार का ट्रांसफ़र हिसार कर दिया गया है। संजय कुमार ने हिसार से ही ट्रांसफ़र पर फ़रीदाबाद में पुलिस आयुक्त का चार्ज ग्रहण किया था। डीसीपी विक्रमजीत सिंह कपूर आत्महत्या कांड में जिस तरह से पूर्व पुलिस आयुक्त संजय कुमार ने चुप्पी साधी, उससे भी राज्य पुलिस की ख़ासी किरकिरी हुई थी।

नये पुलिस कमिश्नर ने मातहत अफ़सरों से कुछ दिन पहले शहर में हुए कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता विकास चौधरी हत्याकांड के बारे में भी पूछताछ की। जबाब में मातहतों ने बताया कि विकास चौधरी हत्याकांड के फ़रार चल रहे मुख्य आरोपी और साजिशकर्ता कुख्यात बदमाश कौशल को दिल्ली से गिफ़्तार कर लिया गया है। कौशल से विस्तृत पूछताछ की जा रही है।

आईएएनएस को सूत्रों ने बताया कि कौशल की गिफ़्तारी की अधिकृत जानकारी नव-नियुक्त पुलिस आयुक्त कुछ देर बाद फ़रीदाबाद में पत्रकार-वार्ता आयोजित करके दे सकते हैं।

–आईएएनएस

ये भी पढ़ें: कश्मीर बंद का 22वां दिन, प्रतिबंधों में ढील दी

ये भी पढ़ें: मोदी बने अरब के सर्वोच्च नागरिक!

Leave a Reply