अफ़गानिस्तान-पाकिस्तान क्षेत्र के पास ओसामा बिन लादेन का बेटा और अल कायदा में उच्च रैंक का अधिकारी हम्ज़ा बिन लादेन अमेरिकी काउंटर-टेररिज्म ऑपरेशन में मारा गया। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शुक्रवार को इस बात की पुष्टि की है।

हलांकि, इस बात की जानकारी हफ्तों पहले सामने आ गई थी, लेकिन यह पहली बार है, जब इस बात की आधिकारिक रूप से पुष्टि की गई है।

हम्ज़ा को अमेरिका ने वैश्विक आतंकवादी घोषित कर रखा था। उसके बारे में कयास लागाए जा रहे थे कि वह भविष्य में आतंकी संगठन अल कायदा का नेतृत्व कर सकता है।

ये भी पढ़ें: मुद्रास्फीति पूरी तरह नियंत्रण में : वित्तमंत्री

इस पर व्हाइट हाउस प्रेस सचिवालय ने कहा, “अल कायदा को उसकी मौत से न केवल नेतृत्व को लेकर संकट का सामना करना पड़ेगा बल्कि इस समूह की गतिविधियों में भी कमी आएगी। दूसरे कई आतंकी संगठनों के साथ बात करने और योजनाएं बनाने का काम हमजा किया करता था।”

इससे पहले उसके मारे जाने की खबरें चल रही थी। उसने आखरी बार सार्वजनिक बयान 2018 में दिया था।

9/11 के आतंकवादी हमले को अंजाम देने वाले आतंकी समूह अल कायदा ने हमजा को महत्वपूर्ण जिम्मेदारी सौंपी थी।

ऐसा माना जाता है वह 30 साल के आस-पास रहा होगा।

— आईएएनएस

ये भी पढ़ें: डूसू चुनाव में एबीवीपी ने 3 सीटें जीतीं, एनएसयूआई को 1 सीट मिली

ये भी पढ़ें: यू-19 एशिया कप में भारत ने बांग्लादेश को हराया

Leave a Reply