उत्तर प्रदेश में बच्चा चोरी की अफ़वाह थमने का नाम नहीं ले रही है। अब इसकी ताज़ा बानगी अमेठी ज़िला में देखने को मिली जहां रविवार शाम भीड़ ने बच्चा चुराना वाला समझकर एक मज़दूर को पीटकर मार डाला, जबकि आठ अन्य घायल हो गए।

एक प्रत्यक्षदर्शी द्वारा शूट किए गए वीडियो में धूल में सना और गंभीर रूप से घायल शख़्स जमीन पर पड़ा नज़र आ रहा है। लोगों के एक समूह ने उसे घेर रखा है और उस पर चिल्ला रहे हैं। एक अन्य वीडियो में चार पुलिसकर्मी एक शख़्स को उसके हाथ और पैर से पकड़कर धान के खेत से ले जाते नज़र आ रहे हैं।

जल्द ही एक भीड़ मौके पर पहुंची और उन्हें पीटना शुरू कर दिया। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है और मृतक व्यक्ति के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया।

पिछले एक महीने से उत्तर प्रदेश में बच्चा चोरी की अफ़वाह के बाद भीड़ हिंसा संबधी घटनाएं सामने आ रही हैं।

ये भी पढ़ें: प्रेम कहानी की याद में फिर होगा ‘पत्थर युद्ध’

पुलिस ने कहा कि वे ग्राम प्रधानों से मिल रहे हैं और उन अफ़वाहों के खिलाफ़ सार्वजनिक घोषणाएं कर रहे हैं जो भीड़ को हिंसा व हत्या के लिए उकसाती है।

पुलिस ने कहा कि बुलंदशहर ज़िले से पिछले एक महीने में अपहरण के आरोपी लोगों पर भीड़ द्वारा हमला करने के कम से कम 12 मामले सामने आए हैं।

पिछले सप्ताह ग़ाज़ियाबाद में भीड़ द्वारा महिला की पिटाई का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। वह अपने पोते को ख़रीदारी कराने के लिए ले जा रही थी जब उसे ग़लती से एक बच्चे को अगवा करने वाली महिला समझ लिया गया।

संभल में एक शख़्स उस समय मॉब लिंचिंग का शिकार बन गया जब वह अपने भतीजे को डॉक्टर के पास ले जा रहा था। हमले में उसका भाई गंभीर रूप से घायल हो गया।

–आईएएनएस

ये भी पढ़ें: सिंगर रानू मंडल के जीवन पर एक फ़िल्म बन सकती है

ये भी पढ़ें: उप्र में बच्चा चोरी की अफ़वाह फैलाने पर कॉलेज का उप प्रधानाचार्य गिरफ़्तार

Leave a Reply