केंद्र सरकार ने सुधारों को आगे बढ़ाते हुए शुक्रवार को 10 सरकारी बैंकों (पीएसबी) को मिलाकर चार बैंक बनाने की घोषणा की है। इसमें ओरिएंटल बैंक ऑफ़ कॉमर्स और यूनाइटेड बैंक ऑफ़ इंडिया को पंजाब नेशनल बैंक में मिला दिया जाएगा। वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण के मुताबिक, केनरा बैंक और सिंडीकेट बैंक का विलय किया जाएगा, जबकि यूनियन बैंक ऑफ़ इंडिया, आंध्रा बैंक और कॉर्पोरेशन बैंक को मिलाकर एक बैंक बनाया जाएगा।

इसी प्रकार से, इंडियन बैंक और इलाहाबाद बैंक को मिलाकर एक बैंक का गठन किया जाएगा।

वित्तमंत्री ने आगे कहा कि बैंक ऑफ़ इंडिया और सेंटल बैंक ऑफ़ इंडिया बरक़रार रहेंगे।

इस विलय प्रक्रिया के बाद देश में केवल 12 सरकारी बैंक बचेंगे, जबकि अब तक इनकी संख्या 27 थी।

इस विलय के बाद पंजाब नेशनल बैंक देश का दूसरा सबसे बड़ा सरकारी बैंक बन जाएगा, जिसका कुल कारोबार 17.5 लाख़ करोड़ रुपये का होगा।

वहीं, केनरा बैंक और सिंडिकेट बैंक को मिलाकर बनाया गया बैंक देश का चौथा सबसे बड़ा सरकारी बैंक होगा, जिसका कुल कारोबार 15.20 लाख़ करोड़ रुपये होगा।

–आईएएनएस

ये भी पढ़ें: मप्र में नए कांग्रेस अध्यक्ष की नियुक्ति को लेकर मची हलचल

ये भी पढ़ें: चिदंबरम सोमवार तक सीबीआई हिरासत में रहेंगे

Leave a Reply