होटल लीला बुक्रफील्ड को बेचने का सौदा एक बार फिर अटक गया है। इस बार प्रतिभूति अपीलीय न्यायाधिकरण (एसएटी) से इस सौदे को झटका लगा है, जिसने होटल लीला वेंचर लिमिटेड को उसकी संपत्ति ब्रूकफील्ड एसेट मैनेजमेंट इंक को बेचने के संबंध में शेयरधारकों की मंजूरी वाले पोस्टल बैलट रिजॉल्यूशन के परिणाम की घोषणा करने व उस पर कार्रवाई करने के विरुद्ध निर्देश दिया है। इससे पहले आईटीसी ने इस संबंध में बाजार विनियामक के आदेश के खिलाफ न्यायाधिकरण का दरवाजा खटखटाया और कहा कि संबंधित पक्ष के हस्तांतरण के कारण बिक्री की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए।

होटल लीला ने 13 अगस्त को अपने शेयरधारकों को नया पोस्टल बैलट नोटिस जारी किया था और उसने इसके परिणाम की घोषणा 18 सितंबर को करने की योजना बनाई थी।

आईटीसी का तर्क है कि पोस्टल बैलेट रिजॉल्यूशन पर 3,950 करोड़ रुपये के सौदे को मंजूरी देने के सिलसिले में कंपनी में 26 फीसदी स्वामित्व वाली जेएम फाइनेंशियल एसेट रिकंस्ट्रक्शन कंपनी लिमिटेड एक संबंधित पक्ष हस्तांतरण है।

एसएटी ने शुक्रवार को आईटीसी, सेबी और होटल लीला की दलीलें सुनीं।

— आईएएनएस

ये भी पढ़ें: प्रियंका की वजह से रोये निक

ये भी पढ़ें: कश्मीर में मुर्हरम जुलूस पर पाबंदी ग़लत: यूएनएओसी

Leave a Reply