अगले सप्ताह शेयर बाज़ार की चाल घरेलू और विदेशी आर्थिक आंकड़े, डॉलर के ख़िलाफ़ रुपये की चाल, मॉनसून का रूख़, वैश्विक बाज़ारों के रुख़, विदेशी पोर्टफ़ोलियो निवेशकों (एफ़पीआई) और घरेलू संस्थागत निवेशकों (डीआईआई) द्वारा किए गए निवेश और कच्चे तेल की कीमतें मिलकर तय करेंगे। घरेलू शेयर बाज़ार सोमवार (2 सितंबर) को गणेश चतुर्थी के कारण बंद रहेंगे।

अगले सप्ताह निवेशकों की नज़र ख़ासतौर से ऑटो क्षेत्र के शेयरों पर होंगी। वाहन कंपनियां अपनी अगस्त 2019 की बिक्री के मासिक आंकड़े एक सितंबर (रविवार) से जारी करना शुरू कर देंगी।

आर्थिक मोर्चे पर, सरकार ने देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के आंकड़े शुक्रवार (30 अगस्त) को शेयर बाज़ार बंद होने के बाद जारी किए। इसमें बताया गया कि विनिर्माण गतिविधियों में तेज़ गिरावट के कारण देश के जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) की रफ़्तार वित्त वर्ष 2019-20 की पहली तिमाही में घटकर 5 फ़ीसदी रही, जबकि वित्त वर्ष 2018-19 की चौथी तिमाही में यह 5.8 फ़ीसदी रही थी।

ये भी पढ़ें: आर्थिक सुस्ती चरम पर, जीडीपी की रफ़्तार घटकर 5 फ़ीसदी

इसका मतलब यह है कि देश की विकास दर में महज़ एक साल की अवधि में 3 फ़ीसदी की गिरावट दर्ज की गई है।

जीडीपी की विकास दर में लगातार चौथी तिमाही में गिरावट दर्ज की गई, जो कि वित्त वर्ष 2018-19 की पहली तिमाही में 8 फ़ीसदी थी, और इस साल समान तिमाही में घटकर 5 फ़ीसदी हो गई।

वैश्विक मोर्चे पर, चीन के काइशिन मैनुफ़ैक्चरिंग पीएमआई के अगस्त 2019 के आंकड़ों की घोषणा सोमवार (2 सितंबर) को की जाएगी। अमेरिका के मार्किट मैनुफ़ैक्चरिंग पीएमआई के अगस्त 2019 के आंकड़ों की घोषणा मंगलवार (3 सितंबर) को की जाएगी।

अमेरिका के नॉन-फार्म पेरोल के अगस्त 2019 के आंकड़ों की घोषणा शुक्रवार (6 सितंबर) को की जाएगी।

–आईएएनएस

ये भी पढ़ें: सिंगर रानू मंडल के जीवन पर एक फ़िल्म बन सकती है

ये भी पढ़ें: सैमसंग काम कर रही है सस्ते गैलेक्सी फ़ोल्ड पर

Leave a Reply