अभिनेत्री सोनम कपूर की आगामी फिल्म ‘द जोया फैक्टर’ है जिसमें वह लीड रोल में हैं। सोनम का कहना है कि बॉलीवुड की फिल्मों में ऐसे किरदार काफी सालों से दिखाए जा रहे हैं जो पूरी तरह से परफेक्ट होते हैं हालांकि उन्हें ऐसे किरदार ज्यादा वास्तविक लगते हैं जिनमें खामियां रहती हैं और जो पूरी तरह से परफेक्ट नहीं होते हैं। सोनम इससे पहले ‘आयशा’, ‘खूबसूरत’, ‘डॉली की डोली’ और ‘वीरे दी वेडिंग’ जैसी फिल्मों में काम कर चुकी हैं, इन सभी फिल्मों में सोनम ने एक ऐसी लड़की के किरदार को निभाया है जो अपनी जिंदगी में गलतियां करती है।

सोनम ने आईएएनएस को बताया, “मुझे लगता है कि हमारी फिल्मों में काफी लंबे समय से युवा लड़के और लड़कियों का प्रतिनिधित्व सही से नहीं किया गया है। जब एक किरदार परफेक्ट नहीं होता है तो लोग इससे ज्यादा जुड़ाव महसूस करते हैं क्योंकि असली जिंदगी में हम परफेक्ट नहीं होते हैं। मैंने जितने भी किरदार निभाए हैं उनमें से ज्यादातर दोषपूर्ण है, लेकिन वे हमारा प्रतिनिधित्व करती हैं। मेरे लिए, ये असली किरदार हैं।”

सोनम ने आगे कहा, “फिल्मों में लीड कैरेक्टर या मुख्य भूमिका को परफेक्ट दिखाने की हमारी प्रवृत्ति होती है जैसे कि एक हीरो के पास सभी चीजों का समाधान होता है और विलेन बहुत काला होता है और लड़कियां हर एक चीज में निपुण होती हैं, यह वास्तविकता नहीं है।”

सोनम ने कहा, “मुझे पर्दे पर ऐसे किरदार निभाना पसंद है जो वास्तविक इंसान का प्रतिनिधित्व करती है।”

–आईएएनएस

ये भी पढ़ें: पुलवामा के बाद दिल्ली, एनसीआर था जैश के निशाने पर: एनआईए

ये भी पढ़ें: सोनी अल्फ़ा 7आर फ़ुल-फ़्रेम मिररलेस कैमरा भारतीय बाज़ार में उपलब्ध

Leave a Reply