पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कश्मीर मामले को लेकर भारत के साथ ‘एक्सीडेंटल युद्ध’ की आशंका से इनकार नहीं किया है।

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (यूएनसीएचआर) सम्मेलन में यहां भाग लेने आए कुरैशी ने स्वदेश रवाना होने से पहले संवाददाताओं से बातचीत में कश्मीर मुद्दे पर अचानक ही हो जाने वाली जंग को लेकर आशंका जाहिर की। उन्होंने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार उच्चायुक्त मिशेल बैचलेट से ‘अशांत क्षेत्र’ का दौरा करने की अपील की।

कुरैशी ने कहा, “मुझे लगता है कि पाकिस्तान और भारत, दोनों ही संघर्ष के दुष्परिणामों से परिचित हैं। लेकिन तनाव के लगातार बढ़ने से आप एक्सीडेंटल वॉर की आशंका से इनकार नहीं कर सकते। अगर हालात ऐसे ही बने रहे तो कुछ भी हो सकता है।”

ये भी पढ़ें: एशिया कप में पाकिस्तान को हरा भारत सेमीफ़ाइनल में

पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने कहा कि उन्होंने मिशेल बैचलेट से कश्मीर के भारतीय व पाकिस्तानी दोनों क्षेत्रों का दौरा करने की अपील की है। वह खुद आकर हालात को देखें ताकि दुनिया जान सके कि सच्चाई क्या है..हालात कैसे हैं।

उन्होंने कहा कि बैचलेट ने उनसे कहा कि वह यह दौरा करना चाहती हैं।

हालांकि, बैचलेट के कार्यालय की तरफ से ऐसा कोई बयान नहीं जारी हुआ है।

कुरैशी ने अभी भारत के साथ द्विपक्षीय बातचीत की संभावना को नकारते हुए कहा, “जैसा माहौल है और नई दिल्ली की जैसी मानसिकता है, उसमें मैं अभी द्विपक्षीय संवाद की संभावनाएं नहीं देखता।”

— आईएएनएस

ये भी पढ़ें: कश्मीर से प्रतिबंध हटाए बिना कोई बातचीत नहीं: शाह महमूद कुरैशी

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था बचाएंगी ‘बेली डांसर्स’

Leave a Reply