पाकिस्तान ने भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के विमान को अपने हवाई क्षेत्र से उड़ने की अनुमति देने के नई दिल्ली के आग्रह को शनिवार को ठुकरा दिया। जियो न्यूज ने पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के हवाले से कहा, “भारत के कब्जे वाले कश्मीर में हो रहे मानवाधिकारों के उल्लंघन का हवाला देते हुए इस्लामाबाद ने नई दिल्ली के अनुरोध को अस्वीकार कर दिया।”

कुरैशी ने कहा कि प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत का अनुरोध खारिज किए जाने के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि “पाकिस्तान को यह फैसला इसलिए लेना पड़ा, क्योंकि भारत ने कश्मीर को लेकर आक्रामकता दिखाई है।”

कुरैशी ने कहा कि कश्मीर में भारत द्वारा की जा रही ‘बर्बरता’ एक गंभीर मुद्दा है, जिसे वह संयुक्त राष्ट्र के मानवाधिकार परिषद में लेकर जाएंगे।

ये भी पढ़ें: सिखों को मिलेगा मल्टीपल ऑन-अराइवल वीज़ा: इमरान ख़ान

उन्होंने कहा, “अनुच्छेद 370 को हटे और जम्मू एवं कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा खत्म किए जाने के बाद 34 दिन बीत चुके हैं, फिर भी वहां लोगों पर पाबंदियां लगी हुईं हैं।”

अगस्त में ऐसी खबरें आ रही थीं कि भारतीय विमानों के लिए पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र के इस्तेमाल पर पूरी तरह प्रतिबंध लगाने पर इमरान विचार कर रहे हैं। इसके अलावा भारत और अफगानिस्तान के बीच पाकिस्तान से होकर गुजरने वाले मार्ग को भी बंद किए जाने पर विचार किया जा रहा था।

पाकिस्तान के उड्डयन मंत्री गुलाम सरवर खान ने इस सप्ताह की शुरुआत में पत्रकारों से कहा था कि उनकी सरकार ने अभी तक भारत से वाणिज्यिक उड़ानों के लिए पूर्वी हवाई क्षेत्र को बंद करने का कोई निर्णय नहीं लिया है।

उन्होंने आगे कहा था, “हालांकि, हमने ऐसा करने का अधिकार सुरक्षित रखा है और इसका उपयोग उचित समय पर किया जाएगा।”

–आईएएनएस

ये भी पढ़ें: एयर इंडिया का निजीकरण जल्द होगा : उड्डयन मंत्री पुरी

ये भी पढ़ें: सिंगर रानू मंडल के जीवन पर एक फ़िल्म बन सकती है

Leave a Reply