पाकिस्तान ने भारत के साथ पर्दे के पीछे वार्ता करने से इनकार कर दिया है। इससे पहले कुछ मुस्लिम देशों समेत शक्तिशाली देशों ने कश्मीर मुद्दे पर दोनों पड़ोसी देशों के बीच तनाव को कम करने का आह्वान किया था। मामले की जानकारी रखने वाले एक अधिकारी ने रविवार को एक्सप्रेस ट्रिब्यून से कहा, “पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को उनके भारतीय समकक्ष नरेंद्र मोदी के खिलाफ मौखिक हमलों में नरमी लाने के लिए भी कहा गया है।

हालांकि पाकिस्तान ने इन आग्रहों को ठुकरा दिया है और स्पष्ट किया है कि वह नई दिल्ली की ओर से कुछ शर्तो के पूरा करने के बाद ही केवल पारंपरिक कूटनीति के जरिए ही बातचीत करेगा।

ये भी पढ़ें: नौकरियों के योग्य नहीं उत्तर भारत के युवा: गंगवार

अधिकारी के मुताबिक, सऊदी अरब और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) दोनों के राजनयिकों ने पाकिस्तान व भारत के बीच तनाव कम करने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाने को लेकर इच्छा जताई है। इसमें से एक प्रस्ताव दोनों देशों के बीच पर्दे के पीछे से वार्ता का आयोजन करवाना भी है।

भारत ने जब से जम्मू एवं कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म किया है, खान स्थानीय और अंतर्राष्ट्रीय मंचों पर लगातार मोदी पर निशाना साधते रहे हैं।

विदेश कार्यालय के प्रवक्ता मुहम्मद फैसल ने बीते सप्ताह अपने ब्रीफिंग में विशेष रूप से कहा था कि स्थिति को सामान्य करने के लिए भारत के साथ पर्दे के पीछे से कोई वार्ता नहीं होगी।

— आईएएनएस

ये भी पढ़ें: ओसामा का बेटा मारा गया, ट्रंप ने की पुष्टि

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान में हिंदू विरोधी दंगे के मामले में 218 पर मामला दर्ज

Leave a Reply