केंद्रीय श्रम एवं रोजगार राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) संतोष कुमार गंगवार ने रविवार को कहा कि देश में पर्याप्त नौकरियां मौजूद हैं, लेकिन नौकरियां तलाश रहे उत्तर भारतीय युवा पाने के योग्य नहीं हैं। गंगवार ने यहां मीडिया से बातचीत में कहा कि नौकरियों की तलाश कर रहे उत्तर भारत के युवा योग्य नहीं हैं, जबकि देश में नौकरियों की कोई कमी नहीं है। उन्होंने यह भी कहा कि मंत्रालय नौकरियों की स्थिति पर नजर बनाए हुए है और भारत में नौकरियों की कोई कमी नहीं है।

गंगवार ने कहा कि विदेशी कंपनियां जो देश में लोगों को भर्ती करने के लिए आईं, उन्होंने उन्हें बताया कि जिन पदों पर वे लोगों की तलाश कर रहे हैं, उन पदों के लिए देश के युवा योग्य नहीं हैं।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि देश में मंदी के मामले को गलत तरीके से लिया जा रहा है।

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और समाजवादी पार्टी के नेता आजम खां पर निशाना साधते हुए गंगवार ने कहा कि कुछ लोग डरे हुए हैं, लेकिन किसी को भी नहीं बख्शा जाएगा।

ये भी पढ़ें: एयर इंडिया का निजीकरण जल्द होगा : उड्डयन मंत्री पुरी

आजम खां के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि वह रामपुर की जनता को बताएंगे कि उन्होंने किस तरह के व्यक्ति को चुनकर संसद में भेजा है। यह जनता के लिए भी दुर्भाग्य की बात है।

उनके इस बयान पर समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश ने कड़ी आपत्ति जताई है। उन्होंने कहा कि उनके बयान जख्मों पर नमक छिड़कने वाले हैं। सपा प्रमुख ने कहा कि मंत्री का बयान युवाओं के प्रति असंवेदनशील और क्रूर है।

कांग्रेस के नेता प्रमोद तिवारी ने भी मोदी सरकार के मंत्री से कहा है कि वह अपने इस बयान पर माफी मांगें।

उन्होंने कहा, “एक तरफ लोग अपनी नौकरियां गवां रहे हैं और दूसरी तरफ नई नौकरियां पैदा नहीं हो रही हैं। देश के युवा परेशान हैं, इस मुद्दे पर ध्यान देने के बजाय मंत्री युवाओं को दोष दे रहे हैं कि वे योग्य नहीं हैं। मंत्री का यह बयान दुर्भाग्यपूर्ण है।”

— आईएएनएस

ये भी पढ़ें: साइबर फ़्रॉड में क़रीबी भी बना सकते हैं निशाना

ये भी पढ़ें: वायाकॉम18 ने ‘राम सिया..’ विवाद पर जारी किया बयान

Leave a Reply