निजी क्षेत्र का प्रमुख क़र्ज़दाता आईसीआईसीआई बैंक देश का पहला बैंक बन गया है, जिसने अपने देश भर के करेंसी चेस्ट में लाख़ों नोटों की गिनती करने के लिए औद्योगिक ‘रोबोटिक आर्म्स’ की तैनाती की है। आईसीआईसीआई बैंक की ऑपरेशंस और कस्टमर सर्विस के प्रमुख अनुभूति संघाई ने कहा कि ये रोबोटिक आर्म्स फ़िलहाल मुंबई, और सांगली (महाराष्ट्र), नई दिल्ली, बेंगलुरू और मंगलुरू (कर्नाटक), जयपुर, हैदराबाद, चंडीगढ़, भोपाल, रायपुर, सिलिगुड़ी और वाराणसी में काम कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि इन 14 मशीनों (रोबोटिक आर्म्स) को 12 शहरों में तैनात किया गया है, ताकि ये सभी कामकाजी दिन में 60 लाख़ नोटों को गिन सके या सालाना क़रीब 1.80 अरब नोटों को गिन सके।

उन्होंने कहा कि आईसीआईसीआई भारत का पहला वाणिज्यिक बैंक और दुनिया के गिनेचुने बैंकों में से एक है, जिसने नकदी प्रोसेसिंग के लिए औद्योगिक रोबोट्स की तैनाती की है।

संघाई ने कहा, “रोबोटिक आर्म्स 70 से अधिक पैरामीटर्स पर विभिन्न सेंसर्स के प्रयोग से बिना किसी ब्रेक के लगातार और बाधा रहित तरीके से काम करता है।”

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा स्वच्छ नोट की नीति को अनिवार्य बनाए जाने के बाद से बैंक अपनी करेंसी चेस्ट में उच्च प्रौद्योगिकी वाली नोट छांटने वाली मशीनों से नोट की छंटाई करते हैं और उसके बाद ही दुबारा उसे अपनी शाखाओं/एटीएम में भेजते हैं।

–आईएएनएस

ये भी पढ़ें: मोदी द्वारा हुई यूएई में रुपे कार्ड की शुरुआत

ये भी पढ़ें: भारतीय धाविका पारुल ने 5000 मीटर में जीता स्वर्ण

Leave a Reply