मेज़बान वेस्टइंडीज़ यहां सबिना पार्क मैदान पर खेले जा रहे दूसरे और आख़िरी टेस्ट मैच में भारत के ख़िलाफ़ हार की तरफ़ बढ़ती दिख रही है।

भारत द्वारा रखे गए 468 रनों के लक्ष्य के जवाब में विंडीज़ ने तीसरे दिन रविवार का खेल ख़त्म होने तक अपनी दूसरी पारी में दो विकेट महज़ 45 रनों पर ही खो दिए। स्टम्प्स तक डारेन ब्रावो 18 और शर्माह ब्रोक्स चार रन बनाकर खेल रहे हैं। वेस्टइंडीज़ अभी भी लक्ष्य से 423 रन दूर है, जबकि उसके पास दो दिन का समय है।

भारत ने अपनी पहली पारी में 416 रन बनाए थे और विंडीज़ को उसकी पारी पहली पारी में महज़ 117 रनों पर ऑल आउट कर दिया था। भारत ने विंडीज़ को फ़ॉलोऑन न देने का फ़ैसला किया और दूसरी पारी में 299 रनों की बढ़त के साथ उतरी। भारत ने दूसरी पारी चार विकेट खोकर 168 रनों पर घोषित कर विंडीज़ के सामने 468 रनों की मजबूत चुनौती रखी।

ये भी पढ़ें: बुमराह पहले एशियाई गेंदबाज बने जिसने 4 देशों में 5 विकेट लिए

दिन के आख़िरी सत्र में विंडीज़ ने रनों के लक्ष्य का पीछा करना शुरू किया। ईशांत शर्मा ने नौ के कुल स्कोर पर ही क्रैग ब्रैथवेट (3) को आउट कर मेज़बान टीम को पहला झटका दिया तो मोहम्मद शमी ने 37 के कुल स्कोर पर दूसरे सलामी बल्लेबाज़ जॉन कैम्पवेल (16) को पवेलियन की राह दिखाई।

इससे पहले, वेस्टइंडीज़ ने दिन की शुरुआत अपनी पहली पारी के स्कोर सात विकेट के नुकसान पर 87 रनों के साथ की थी। दूसरे दिन जसप्रीत बुमराह की हैट्रिक ने विंडीज़ को घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया था। तीसरे दिन के पहले ही सत्र में भारत ने विंडीज़ के बाकी के तीन विकेट रखीम कोर्नवॉल (14), जाहमर हेमिल्टन (5) और केमार रोच (17) को आउट कर उसकी पहली पारी बेहद सस्ते में समेट दी।

पहली पारी में भारत के लिए जसप्रीत बुमराह ने छह विकेट लिए। मोहम्मद शमी ने दो और ईशांत शर्मा तथा रवींद्र जडेजा ने एक-एक विकेट अपने नाम किया।

ये भी पढ़ें: आईएसएसएफ़ विश्व कप में यशस्विनी ने वर्ल्ड नंबर-1 को पछाड़कर जीता स्वर्ण

भारत के लिए हालांकि दूसरी पारी की शुरुआत अच्छी नहीं रही। उसने 36 के कुल स्कोर तक अपने तीन विकेट खो दिए। पहले सत्र में मयंक अग्रवाल (4) रोच की गेंद पर एलबीडब्ल्यू आउट दे दिए गए। रोच ने ही दूसरे सत्र में पहले लोकेश राहुल (6) और अगली ही गेंद पर कप्तान विराट कोहली को बिना खाता खोले पवेलियन भेज दिया। कप्तान जेसन होल्डर ने चेतेश्वर पुजारा (27) को 57 के कुल स्कोर पर विकेटकीपर हेमिल्टन के हाथों कैच कराते हुए भारत का स्कोर चार विकेट के नुकसान पर 74 रन कर दिया।

यहां से अंजिक्य रहाणे (नाबाद 64) और हनुमा विहारी (53) ने टीम को संभालते हुए पांचवें विकेट के लिए 111 रनों की साझेदारी की। तीसरे सत्र में भारत ने अपनी दूसरी पारी घोषित करने का फ़ैसला किया और विंडीज़ को विशाल लक्ष्य दिया। रहाणे ने अपनी पारी में 109 गेंदों का सामना किया और आठ चौके तथा एक छक्का मारा। विहारी ने 76 गेंदें खेलने के बाद आठ चौके लगाए। विहारी ने पहली पारी में अपने टेस्ट करियर का पहला शतक भी लगया था।

वेस्टइंडीज़ के पास हालांकि दो दिन का समय है लेकिन जिस तरह से उसकी बल्लेबाज़ी और भारत की गेंदबाज़ी रही है उसे देखते हुए यह लक्ष्य मेज़बान टीम की पहुंच से दूर ही लग रहा है।

–आईएएनएस

ये भी पढ़ें: प्रेम कहानी की याद में फिर होगा ‘पत्थर युद्ध’

ये भी पढ़ें: सिंगर रानू मंडल के जीवन पर एक फ़िल्म बन सकती है

Leave a Reply